HBN News Hindi

Deadline for Investors : इन निवेशकों के लिए जरूरी अपडेट, इस दिन तक नहीं निपटाया यह काम तो हो जाएगा बड़ा आर्थिक नुकसान

अगर आप Small Saving Schemes में निवेश करते हैं तो यह खबर आपके बहुत काम की है। दरअसल कुछ स्कीमों की प्रक्रिया को लेकर डेडलाइन 31 मार्च को खत्म हो रही है। इसलिए आपको इससे पहले ही इनसे संबंधित जरूरी कार्य निपटाने होंगे, वर्ना आपको पेनेल्टी व जुर्माना आदि के रूप में राशि अदा करनी पड़ सकती है।

 | 
Deadline for Investors : इन निवेशकों के लिए जरूरी अपडेट, इस दिन तक नहीं निपटाया यह काम तो हो जाएगा बड़ा आर्थिक नुकसान

HBN News Hindi (ब्यूरो) : Investment News : चालू वित्त वर्ष 31 मार्च को समाप्त होने जा रहा है। ये समय जरूरी वित्तीय कार्यों को निपटाने के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है। ऐसे में अगर आपने सुकन्या समृद्धि योजना (SSY), नेशनल पेंशन सिस्टम (SSY) और Public Provident Fund (PPF) आदि में निवेश किया हुआ है और इस वित्त वर्ष में इसमें कोई योगदान नहीं दिया है तो इस महीने के आखिर तक आपको न्यूनतम योगदान करना जरूरी है। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपका खाता इनएक्टिव हो सकता है। 

 

Maruti Suzuki की कारें अब देश से बाहर भी हुई मशहूर, बिक्री में चल रही नंबर वन


PPF को लेकर यह करें


Public Provident Fund (PPF) में आपको एक वित्त वर्ष में न्यूनतम 500 रुपये का योगदान देना होता है। एक साल में आप अधिकतम 1.5 लाख रुपये PPF जमा कर सकते हैं। अगर आप वित्त वर्ष के दौरान न्यूनतम राशि जमा करने से चूक जाते हैं तो आपको आगे न्यूनतम 500 रुपये की वार्षिक जमा के साथ 50 रुपये प्रति वर्ष का जुर्माना देना होगा। 

 

New Car Price Hike : तीन दिन बाद इन धाकड़ कारों के दामों में बढ़ोतरी, जान लें नए प्राइस

 

NPS


एनपीएस यानी National pention system अकाउंट को एक्टिव रखने के लिए एक वित्त वर्ष में कम से कम 1000 रुपये का योगदान देना होता है। आप न्यूनतम 500 रुपये भी एनपीएस में जमा कर सकते हैं। न्यूनतम योगदान न करने के कारण अगर आपका account inactive हो जाता है तो आपको दोबारा एक्टिव करवाने के लिए न्यूनतम योगदान के साथ 100 रुपये का जुर्माना देना होगा। 

 

Electric scooter खरीदने वालों की हुई मौज, 27 हजार से भी ज्यादा का मिल रहा डिस्काउंट

 

Sukanya Samriddhi Yojana


सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) में प्रतिवर्ष न्यूनतम 250 रुपये का योगदान करना होता है। आप इसमें अधिकतम 1.5 लाख रुपये का सलाना योगदान कर सकते हैं। अगर आप न्यूनतम योगदान नहीं करते हैं तो आपको अपने खाते को दोबारा से शुरू करने के लिए 50 रुपये प्रति वर्ष का जुर्माना के साथ न्यूनतम योगदान करना होगा।