HBN News Hindi

Haryana में इस जगह 5700 करोड़ की लागत से बनेगी 126 किलोमीटर लंबी रेल लाइन

Haryana Train :  रेलवे की एक बड़ी परियोजना के जरिए नूंह, सोहना, मानेसर, खरखौदा को जोड़ने का काम शुरू हो गया है। इस परियोजना के लिए भूमि का अधिग्रहण भी शुरू हो गया है । नीचे खबर में विस्तार से जाने कितने करोड़ों की है यह परियोजना और कितने किलोमीटर रेलवे लाईन बिछाई जानी है इस परियोजना के अंर्तगत।
 | 
Haryana में इस जगह 5700 करोड़ की लागत से बनेगी 126 किलोमीटर लंबी रेल लाइन

HBN News Hindi (ब्यूरो) : नूंह, सोहना, मानेसर, खरखौदा को जोड़ने के लिए 126 किलोमीटर लंबी रेलवे लाईन (railway line) बनाने की परियोजना की शुरूआत हो गई है। 126 किलोमीटर लंबी ये लाईन 5700 करोड़ की लागत से तैयार की जानी है । पलवल-सोनीपत (Palwal-Sonipat) रेलवे लाइन परियोजना के अंर्तगत कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेस-वे (Kundli-Manesar-Palwal Expressway) के साथ-साथ रेलवे लाईन बिछाने का काम किया जाऐगा।

 

HDFC Bank 1 अप्रैल को नहीं देगा ये सुविधाएं, ग्राहक जान लें यह जरूरी अपडेट


441.47 हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण का किया अधिग्रहण


इसके लिए 441.47 हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण (acquisition )किया गया है, जिसके लिए 1419.24 करोड़ रुपये का मुआवजा (compensation) बांटने का कार्य किया जा रहा है। इसमें से 1167.92 करोड़ रुपये की मुआवजा राशि बांटी जा चुकी है, जबकि शेष 251.32 करोड़ रुपये की मुआवजा राशि (compensation amount) भी जल्द से जल्द बांट दी जाएगी। परियोजना के लिए शेष भूमि के अधिग्रहण का कार्य भी जारी है।

 


अधिग्रहित भूमि के बदले बकाया मुआवजा जल्द मिलेगा 


यह जानकारी प्रदेश के मुख्य सचिव संजीव कौशल ने दी। वह बुधवार को एचओआरसी प्रोजेक्ट(HORC Project) के लिए भूमि अधिग्रहण की वर्तमान स्थिति को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में जिला झज्जर, सोनीपत, नूंह, पलवल और गुरुग्राम के उपायुक्त वीसी के माध्यम से जुड़े। बैठक में मुख्य सचिव ने कहा कि हरियाणा ऑरबिट रेल कॉरिडोर प्रोजेक्ट (Orbit Rail Corridor Project) राज्य के लिए बेहतरीन परियोजना है। 

Wheat Price 2024 : 2700 रुपये क्विंटल होगा गेहूं का भाव! केंद्र सरकार ने बढ़ाया न्यूनतम समर्थन मूल्य

ये भी दिए निर्देश

उन्होंने निर्देश दिया कि अधिकारी इसके लिए पलवल, गुरुग्राम, झज्जर, नूंह और सोनीपत में अधिग्रहित भूमि का मुआवजा बांटने का कार्य जल्द से जल्द पूरा करें। इसके अलावा उपमंडल पलवल, सोहना, गुरुग्राम, पटौदी, नूंह और तावडू में स्ट्रक्चर कॉम्पन्सेशन (structure compensation) बांटने का कार्य भी जल्द से जल्द पूरा किया जाए। बैठक में वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अनुराग रस्तोगी सहित एचआरआईडीसी के पदाधिकारी भी मौजूद रहे।