HBN News Hindi

Bluetooth से कोई नहीं कर पाएगा आपकी जासूसी, तुरंत लगेगा पता, एप्पल और गूगल ने निकाला यह तोड़

Unwanted Tracking With Bluetooth Devices: आपकी जानकारी के लिए बता दें कि टॉप टेक कंपनियां एपल और गूगल अपने यूजर्स की सिक्योरिटी के लिए मिल कर काम कर रही हैं। दोनों कंपनियां अपने यूजर्स को ब्लूटुथ के जरिए होने वाली अनजान और अनचाही ट्रैकिंग से बचाने के लिए साथ काम कर रही हैं। अब दोनों कंपनियों ने ऐसा तोड़ निकाला है कि कोई आपको ब्लूटुथ के जरिये ट्रेक नहीं कर पाएगा। आइये जानते हैं इस पूरी खबर के बारे में।
 
 | 
Bluetooth से कोई नहीं कर पाएगा आपकी जासूसी, तुरंत लगेगा पता, एप्पल और गूगल ने निकाला यह तोड़

HBN News Hindi (ब्यूरो) : बढ़ती तकनीक के साथ रिस्क भी बढ़ गए हैं। ब्लूटूथ के जरिये ट्रेक करने की घटनाएं आम होती जा रही हैं। इससे प्राइवेसी लीक होने का भी अंदेशा रहता है। इसी को ध्यान में रखते हुए गूगल और एप्पल ने मिलकर तोड़ निकाला है। अब यूजर्स को अनजान ट्रैकर की आसानी से जानकारी मिल जाएगी। आइए जानते हैं इसकी डिटेल के बारे में विस्तार से।

 

Apple- Google कर रही पार्टनरशिप में काम

 
टॉप टेक कंपनियां एप्पल और गूगल (Apple- Google) अपने ग्राहकों की सुरक्षा को (आईओएस अपडेट)ध्यान में रखते हुए एक नई पार्टनरशिप में काम कर रही है। ये कंपनियां अनजान ब्लूटूथ डिवाइस (for Unwanted tracking with Bluetooth devices) से अपने यूजर्स को बचाने के लिए तगड़ा जुगाड़ लेकर आये हैं।

 

एंड्रॉइड और आईफ़ोन यूजर्स को मिलेगें फायदे


जल्द ही एंड्रॉइड और आईफ़ोन यूजर्स को अनजान ब्लूटुथ(ब्लूटुथ ट्रेकिंग डिवाइस) ट्रैकर के पास आते ही अलर्ट मिलने भी शुरू हो जाएगे। पिछले काफी समय से एप्पल को यूजर्स से शिकायत मिल रही थी कि कंपनी के एयरटैग जैसे ट्रेकिंग डिवाइस का भी गलत इस्तेमाल किया जा रहा है।


फोन को अपडेट करने से हो सकता है बचाव

 

गूगल (Google) और एप्पल (Apple) ने साथ मिलकर 'अनचाहे लोकेशन (अनचाहे ट्रैकिंग)ट्रैकर्स को ढूंढना’ (Unwanted Tracking With Bluetooth Devices) के नाम से नया तरिका खोज निकाला ही। जिसके लिए केवल फोन को अपडेट करना होगा। आईफ़ोन यूजर्स के लिए अपडेट iOS 17।5 तथा एंड्रॉयड के लिए 6।0 या उसके ऊपर के वर्जन में होगा।

 

नए अपडेट के बाद आएगा अलर्ट

 


इन नए अपडेट के बाद जैसे ही कोई अनजान ब्लूटूथ डिवाइस(Bluetooth tracking device) काफी देर तक चल रहा है तो आपके फोन पर उसे लेकर एक अलर्ट नजर आएगा। किसी भी कंपनी के ट्रैकिंग डिवाइस के लिए ये अपडेट भेजा जा सकता है। उस अलर्ट में ब्लूटूथ डिवाइस का नाम लिखा होगा। लिखा हुआ आएगा कि (ब्लूटूथ डिवाइस का नाम) नाम का डिवाइस आपके साथ-साथ चल रहा है।

 अब नहीं की जा सकेगी ब्लूटूथ से जासूसी

ब्लूटूथ डिवाइस के कारण लोगों को ट्रैक (Android update)करने के करने के कई मामले पहले ही सामने आ चुके है। AirTags का इस्तेमाल कर चुके ग्राहकों ने ही ऐसी ही शिकायत की थी, जिस्सके बाद एप्पल और गूगल ने पिछले साल से ही इस डिवाइस पर काम करा शुरू कर दिया था। साल 2021 में एप्पल ने Tracker Detect नाम से भी एक एप बनाई थी।