HBN News Hindi

Car में इतना तेल जरूर रखिए साहब, नहीं तो बीच राह में हो जाएगा इंजन सीज

Car Petrol lowest Limit : अगर आपके पास भी कार है तो आपको पता ही होगा कि कार में सबसे महंगा पार्ट इंजन होता है। जिसमें खराबी आने पर समय और पैसा दोनों खर्च होते हैं। कार में एक निश्चित मात्रा में ऑयल का होना बहुत जरूरी है। तो इस खबर के जरिए हम आपको बताएंगे कि Car में कम से कम कितना तेल होना चाहिए। आइए जानते हैं इस बारे में डिटेल से।

 | 
Car में इतना तेल जरूर रखिए साहब, नहीं तो बीच राह में हो जाएगा इंजन सीज


HBN News Hindi (बयूरो):   हम सब इतना तो जानते हैं कि अधिकतर गाड़ियों में पेट्रोल व डीजल (Engine Oil) डलता है। लेकिन टंकी(Fuel Tank In Car) में इसकी कम से कम कितनी मात्रा होनी चाहिए, यह कम ही लोगों को पता होता है। अगर यह तय सीमा से कम हो जाए(Car mein kam se kam kitna tel rahna chahiye) तो इंजन को सीज कर सकता है। वहीं दूसरी तरफ  इसका ज्यादा होना भी कई मुसीबतें खड़ी कर देता है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आपकी कार में कम से कम कितना तेल होना चाहिए ,जिससे आप अपने कार के(कार के इंजन की देखभाल कैसे करें) इंजन को खराब होने से बचा सकें। 

 

 


इतनी मात्रा में तेल रहना है जरूरी

 

कार में बहुत से लोग फ्यूल टैंक फुल रखते हैं और कुछ लोगों की आदत होती कि जब तक मीटर में फ्यूल गेज इंडिकेटर लाल ना दिखने लगे और रिजर्व की स्थिति ना बन जाए और फ्यूल लेवल ब्लिंकर्स बार-बार दिखे, तब तक वह गाड़ी में तेल नहीं(Car ka engine kaise kharab hota hai) डलवाते हैं। हालांकि, ऐसा करना आपकी कार के सेहत के साथ खिलवाड़ साबित हो सकता है और इंजन को नुकसान पहुंच सकता है। 


फ्यूल टैंक के अनुसार तेल की जरूरतें 

 

कार में इंजन को नुकसान से बचाने के लिए कम से कम कितना(Fuel Tank In Car) तेल रहना चाहिए, यह कई कारकों पर निर्भर करता है। जैसे कि आप कौन सी गाड़ी चलाते हैं। हर मॉडल में अलग-अलग क्षमता का फ्यूल टैंक होता है। इसके साथ ही पेट्रोल और डीजल इंजनों में तेल की जरूरतें भी अलग-अलग होती हैं। वहीं, आपके ड्राइविंग विहेबियर से भी खेल हो सकता है। आप अगर शहर में ज्यादा गाड़ी चलाते हैं, तो आपको हाईवे पर चलने वालों की तुलना में ज्यादा बार तेल भरवाना होगा।

 

 

  इससे हो सकता है  इंजन को नुकसान


 

कार के फ्यूल टैंक में एक चौथाई तेल रहने की स्थिति को(Car mein kam se kam kitna tel rahna chahiye) न्यूनतम स्तर माना जाता है। इससे कम होने पर फ्यूल पंप में हवा आ सकती है और इससे इंजन को नुकसान हो सकता है। वहीं, 1/2 टैंक फुल रहता है तो यह ज्यादा सुरक्षित स्तर माना जाता है। 3/4 टैंक फुल रहना लंबी यात्रा पर जाने से पहले सबसे अच्छा स्तर माना जाता है।

तेल की  कमी का  संकेत


आपकी कार में अगर कम तेल है तो फिर ईंधन संकेतक लाइट जलने लगता है। इसके साथ ही इंजन की आवाज भी बदल जाती है। गाड़ी में पावर कम होने के साथ ही स्पीड में भी कमी आने लगती है।


इंजन के नुकसान से बचाव


आपकी कार का कम तेल रहने की स्थिति में नुकसान ना हो, इसके लिए आप नियमित रूप से तेल का स्तर जांचें। वहीं, अच्छी क्वॉलिटी वाला तेल इस्तेमाल करें। वहीं, कार बनाने वाली कंपनी की तेल बदलने की सिफारिशों का पालन करें। वहीं, अगर फ्यूल अलर्ट(How to Save Car Engine from damage) लाइट जलती है, तो जल्द से जल्द तेल भरवाएं।

यहां कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखें कि गर्मियों में तेल का स्तर ज्यादा जल्दी कम होता है। वहीं, ठंडे मौसम में तेल गाढ़ा हो जाता है, जिससे ईंधन पंप पर ज्यादा दबाव पड़ सकता है। लंबी यात्रा पर जाने से पहले कार में तेल और अन्य तरल पदार्थों का स्तर जरूर जांच लें।