HBN News Hindi

Internet In Flight : हवाई जहाज में ऐसे चलता है इंटरनेट, इतनी ऊंचाई पर इस तरह मिलता है सिग्नल

:इंटरनेट आज के समय में हर किसी की जरुरत है। घर में बैठे कई बार सिग्नल न मिलने के कारण आपको इंटरनेट (flight me internet kese chalta he )चलाने में काफी परेशानी  होती होगी। ऐसे मे आपने कभी सोचा है की हवाई जहाज में इंटरनेट(flight me internet chlane ka trika) कैसे चलता है और यदि हां तो कैसे? चलिए आज हम आपके इस खबर के माध्यम से इस सवाल का जावब देते हैं।
 
 | 
Internet In Flight : हवाई जहाज में ऐसे चलता है इंटरनेट, इतनी ऊंचाई पर इस तरह मिलता है सिग्नल  

HBN News Hindi (ब्यूरो) :  अक्सर लोगो के मन में सवाल आता होगा की हवाई जहाज में इंटरनेट कैसे चलता होगा । जब हम ऊचाई पर जाते(internet on aircraft without WiFi) हैं तो हमारे फोन मे इंटरनेट नही चलता है। लेकिन हवाई जहाज तो बहुत ऊंचाई पर उड़ता है तो फिर (kya flight me internet chalta he)इसमें इंटरनेट कैसे चलेगा। आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के जरिए लोगो को जानकारी देंगे कि कैसे हवाई जहाज में इंटरनेट चलता है।

 


क्या हवाई जहाज में इंटरनेट काम करता है 


जब प्लेन या हवाई जहाज उन क्षेत्रों के ऊपर से गुजरता है जहां सामान्य मानवीय गतिविधियां हों(can we use internet in international flight) तो वहां लगे नजदीकी टावर के जरिए एयरक्राफ्ट पर लगे एंटीना से सिग्नल मिल जाता है. इसी से हवाई जहाज में इंटरनेट की सुविधा मिलती है, लेकिन अधिक ऊंचाई पर जाने या पहाड़ी और बीच समुद्री इलाके में जमीन पर लगे टावर से सिग्नल मिलना मुमकिन नहीं है।

 

 


हवाई जहाज में इंटरनेट मिलने की तकनीक 


इसके अलावा भी हवाई जहाज में इंटरनेट के सिग्नल मिलने की एक और तकनीक है. दरअसल(internet facility in aircraft) ये सुविधा है संचार सैटेलाइट, जिनके जरिए जमीन पर इंटरनेट सहित तमाम संचार व्यवस्था सुचारू तौर पर चलती हैं. इसकी वजह से भी प्लेन में इंटरनेट की सुविधा मिलती है।

 

 


कम होती है स्पीड


हालांकि इंटरनेट की जो स्पीड आपको जमीन पर मिलती है वो हवा में उड़ रहे विमान में नहीं मिल पाती. जिसपर तेजी से (how to use internet in flight)कार्य किया जा रहा है. ताकि आप हवा में उड़ते प्लेन में भी इंटरनेट से ज्यादा दूर न रहें। हालांकि ये कोशिशें जारी हैं कि (flight me internet kese chlaiye)आने वाले समय में लोगों को फ्लाइट में भी अच्छा इंटरनेट मिल सके। कई देशों में अभी भी लोगों को विमान में अच्छी इंटरनेट की सुविधा मिलती है।