HBN News Hindi

Electric Vehicle purchaging tips : इलेक्ट्रिक स्कूटर खरीदने से पहले पता कर लें बैटरी की लाइफ, नहीं तो दोगुने में पड़ेगा वाहन

Electric Vehicle Battery: भारत में इलेक्ट्रिक स्कूटर की डिमाड़ बहुत ज्यादा हो गई है इसमे लोगो कम कीमत में अपना सफर आसानी से कर सकते हैं। ना ही इसमे पेट्रोल भरवाने का खर्चा हैं। अगर आप भी इलेक्ट्रिक स्कूटर खरीद रहे हैं तो आपको कुछ बातों का पता होना जरूरी है। वरना बाद में आपको परेशान होना पड़ सकता हैं। 
 
 | 
Electric Vehicle purchaging tips : इलेक्ट्रिक स्कूटर खरीदने से पहले पता कर लें बैटरी की लाइफ, नहीं तो दोगुने में पड़ेगा वाहन

HBN News Hindi (ब्यूरो) : आप भी नई इलेक्ट्रिक स्कूटर लाने के बारे में विचार कर रहे हैं तो खरीदने से पहले आपको उसके बारे मे  सारी बाते पता होनी चाहिए। इलेक्ट्रिक गाड़ियों में बैटरी पैक(Electric Vehicle Battery) सबसे जरूरी हिस्सा होता है। बैटरी जितनी पावरफुल होगी उतनी ही बढ़िया रेंज मिलेगी। 

 


इन बातो का रखे ध्यान


भारत में इलेक्ट्रिक स्कूटर और इलेक्ट्रिक बाइक (electric scooter and electric bike) की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इनमें पेट्रोल भरवाने का झंझट नहीं होता, इनकी बैटरी को चार्ज करके इनसे सफर किया जाता है। इलेक्ट्रिक गाड़ियों में बैटरी पैक सबसे जरूरी हिस्सा होता है क्योंकि गाड़ी की पूरी परफॉर्मेंस का जिम्मा बैटरी पैक पर ही रहता है। बैटरी जितनी powerfulऔर सेफ होगी आपको उतनी बढ़िया रेंज(bdia battery or range) और सेफ्टी मिलेगी। अगर आप नया electric scooter or bike खरीदने की सोच रहे हैं या इनमें से कोई भी टू-व्हीलर आपके पास है तो बैटरी पर जरूर ध्यान दें।

 


डेटा कलेक्ट का फायदा 


इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर स्मार्ट और कनेक्टेड मशीनें हैं जो गाड़ी की हेल्थ समेत सभी प्रकार का डेटा ईवी कंपनियों को वापस भेजती हैं। हालांकि इसकी गोपनीयता पर लगातार चर्चा होती रहती है। डेटा कलेक्ट करने का एक बड़ा फायदा यह है कि इससे बैटरी की लंबी उम्र(battery ki lambi umar) के बारे में हमारी समझ को बेहतर बनाने में मदद मिलती है।

 

इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स की परफॉर्मेंस और सेफ्टी 


जब इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स की बात आती है, तो हम ओला, एथर, बजाज, टीवीएस, रिवोल्ट और हीरो मोटोकॉर्प के विडा ब्रांड जैसी कंपनियों के बारे में सोचते हैं। भारत में कई ईवी कंपनियां हैं जिनके इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर्स की परफॉर्मेंस और सेफ्टी काफी अच्छी होती है। अपनी सेफ्टी और (electric scooter ki safty or battery)जेब को देखते हुए अच्छी बैटरी वाले इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर को ही खरीदना चाहिए।

 


इलेक्ट्रिक स्कूटर-बाइक की बैटरी वारंटी


ईवी कंपनियों की तरफ से बैटरी पर जो वारंटी दी जाती है, उसपर ध्यान देना जरूरी है-


Ola: देश की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर कंपनी ओला 3 साल/40,000 km की वारंटी देती है। 2 फरवरी 2024 से बुकिंग करने वाले डिलीवरी पाने वाले कस्टमर्स को 8 साल/80,000 km की वारंटी का फायदा मिलेगा।


Ather: एथर के इलेक्ट्रिक स्कूटर पर 3 साल/30,000 km तक की वारंटी मिलती है। कस्टमर्स चाहें तो एथर बैटरी प्रोटेक्ट प्लान खरीदकर वारंटी 5 साल/60,000 km तक बढ़ा सकते हैं।


TVS: टीवीएस का इलेक्ट्रिक स्कूटर 3 साल/50,000 km की वारंटी(battery ki warranty)) के साथ आता है। आप चाहें तो एक्सटेंडेड वारंटी के साथ इस लिमिट को 5 साल/70,000 km तक बढ़ा सकते हैं।


Bajaj: बजाज चेतक इलेक्ट्रिक स्कूटर पर भी 3 साल/50,000 km की वारंटी मिलती है। आप एक्सटेंडेड वारंटी प्लान भी खरीद सकते हैं, जिसमें ज्यादा वारंटी मिलेगी।


Hero Vida: हीरो विडा इलेक्ट्रिक स्कूटर की बैटरी पर 3 साल की वारंटी मिलती है। ध्यान रहे कि ये 3 साल वारंटी अलग-अलग कंडीशन(electric scooter battery health) के लिए गाड़ी कितने किलोमीटर चली, उन शर्तों के साथ आती है। हीरो में एक्सटेंडेड वारंटी की सुविधा देती है।


Revolt: रिवोल्ट की इलेक्ट्रिक बाइक पर 5 साल/75,000 km की वारंटी दी जाती है। इस वारंटी में भी कुछ शर्तें शामिल हैं।


Ultraviolette: अल्ट्रावायलेट की इलेक्ट्रिक बाइक काफी शानदार बैटरी वारंटी के साथ आती हैं। कंपनी आपको 8 साल/8,00,000 km की बैटरी वारंटी देती है।


इलेक्ट्रिक गाड़ियों में बैटरी पैक ही सबसे महंगा होता है। इसलिए ईवी खरीदते समय वारंटी पर जरूर ध्यान दें। इसके अलावा एक्सटेंडेड वारंटी(battery ki warranty) के बारे में भी पता करना बेहतर रहेगा।