HBN News Hindi

Cooler vs AC : कूलर और AC में से कौन खाता है सबसे अधिक बिजली, किसे यूज करने में है फायदा

Cooler or AC Me Se Kise Use Kre : गर्मी की तपन से बचने के लिए लोग अपने घरों व ऑफिस में एसी व कूलर आदि लगवाते हैं। इनके दिन-रात चलने से बिजली का भी भारी भरकम बिल हर महीने भरना पड़ता है। लेकिन यहां पर सबसे बड़ा सवाल तो यह है कि आखिर इन दोनों में से कौन सा यूज करने में अधिक खर्चा पड़ता है। आइये इस खबर में आपको बताएं डिटेल से।
 
 | 
Cooler vs AC : कूलर और AC में से कौन खाता है सबसे अधिक बिजली, किसे यूज करने में है फायदा 

HBN News Hindi (ब्यूरो) : बहुत से लोगों के मन में सवाल उठते हैं कि इस भीषण गर्मी से बचने के लिए एसी लगवाएं या फिर कूलर। किस में बिजली की खपत ज्यादा है और किसमें कम। आज के समय में मार्केट में कई तरह की कैपेसिटी के एसी और कूलर मौजूद हैं। गर्मी के मौसम में डेढ़ टन का एसी या बड़ा लोहे वाला कूलर चलाएं तो किसमें बिजली का खर्च ज्यादा (Cooler or AC Me Se kon sa h jayada khrchila) है, इसी सवाल का हल जानने के लिए पढ़ें यह  खबर।

 

 


5 STAR रेटिंग का यह होता है फर्क


आज हम आपको एक साधारण से उदाहरण के माध्यम से बताते हैं कि आपके पास अगर एक बड़ा और थोड़ा पुराना कूलर है तो वह एयर कंडीशनर के मुकाबले कितनी बिजली खर्च करेगा। हम इसकी तुलना 5 STAR रेटिंग के साथ आने वाले 1।5 टन के एसी के साथ करने वाले हैं।

 

कूलर से इतनी होगी बिजली की खपत


मान लीजिए आपके पास लोहे का पुराना कूलर है। इलेक्‍ट्रीशियन के मुताबिक, यह कूलर प्रति घंटे 400 वाट तक बिजली खपत करता है। इस तरह, अगर आप प्रतिदिन 12 घंटे कूलर चलाते हैं तो 4800 वॉट बिजली की खपत होगी। 1000 वॉट का एक यूनिट होता है तो रोजाना आपका कूलर 4।8 यूनिट बिजली (औसतन 5 यूनिट) खर्च करेगा। महीने में कुल बिजली खपत होगी 150 यूनिट की।

 


इतनी बिजली खाएगा एसी


आपने 1.5 टन का एसी लगाया है, जो फाइव स्‍टार रेटिंग (AC or Cooler me se kya chlana chahiye) वाला है। यह एसी हर घंटे करीब 840 वॉट बिजली की खपत करेगा। इसे रोजाना 12 घंटे चलाते हैं तो 10,080 वॉट बिजली की खपत करेगा। 1000 वॉट का एक यूनिट होता है तो आपकी रोजाना बिजली खपत करीब 10 यूनिट की होगी। इसका सीधा मतलब हुआ कि कूलर के मुकाबले यह एसी दोगुना बिजली खपत करेगा। इस तरह, महीने में कुल बिजली खपत करीब 300 यूनिट की होगी।

औसत खर्च के हिसाब से करें गणना


बहुत से लोगों के मन में सवाल उठता है कि प्रचंड गर्मी से राहत पाने के लिए एसी लगवाएं या लोहे वाला कूलर खरीद लाएं। किसमें कम बिजली की खपत (AC or Cooler me se kisme bijli ki bachat hogi) होगी और हर महीने हजारों की बचत कर सकेंगे। अगर आप भी इसी उधेड़बुन में हैं तो आज सारी कंफ्यूजन दूर कर देते हैं। इसकी गणना के लिए हम 1.5 टन के एसी से तुलना करेंगे जो 5 स्‍टार रेटिंग वाला होगा। माना जाता है कि 5 स्‍टार रेटिंग वाले उपकरण सबसे कम बिजली की खपत (एसी व कूलर में से कौन सा यूज करने में है बचत)करते हैं। बिजली के बिल की तुलना के लिए हमने औसत 7 रुपये यूनिट का खर्च माना है।

महीने में इतना आएगा बिल


जैसा कि हमने ऊपर बताया कि दोनों के खर्च की तुलना के लिए 7 रुपये यूनिट बिजली का भाव मान लेते हैं। इस तरह, सिर्फ कूलर चलाने पर ही महीने में आपका बिजली का बिल 1,050 रुपये आएगा। वहीं, एसी की बात करें तो इसका बिल हर महीने 2,100 रुपये के करीब होगा। इस तरह, आपने देखा कि एसी के मुकाबले कूलर चलाने पर आप हर महीने 1,050 रुपये की बचत बिजली बिल में कर सकते हैं।