HBN News Hindi

CERT-In Alert : इन Routers को हैक होने से बचाने के लिए तुरंत कर लें यह काम, सरकार ने किया अलर्ट जारी

CERT-In Alert for Routers : वाईफाई राउटर्स को लेकर एक डरा देने वाली खबर सामने आई है। दरअसल CERT ने राउटर्स को लेकर एक अलर्ट जारी किया है। जिसमें उन्होंने होने वाले खतरे के बारे में जानकारी दी है। दऱअसल डिजिसोल राउटर के फर्मवेयर में कई खामियां नजर आई है। जिसके चलते हैकर्स आपकी पर्सनल जानकारी को आसानी से हैक कर सकते हैं। आइए जानते हैं इस पूरी खबर के बारे में
 
 | 
CERT-In Alert : इन Routers को हैक होने से बचाने के लिए तुरंत कर लें यह काम, सरकार ने किया अलर्ट जारी

HBN News Hindi (ब्यूरो): इंडियन कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम ने डिजिसोल राउटर (CERT-In ne kiya alert ) में कुछ दिक्कतें बताई है। जिससे एडवाइडरी में यूजर्स को राउटर के लिए लेटेस्ट फर्मवेयर इंस्टॉल करने की सलाह दी है । हैकर्स इस डिवाइस के जरिये( Hackers kr skte Routers users ka use) यूजर्स को निशाना बना सकते हैं आज हम आपको इससे बचाव के कुछ टिप्स के बारें में बताएंगे।

 

 

CERT-In ने किया अलर्ट जारी

कम्प्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (CERT-In) ने Digisol वाई-फाई राउटर्स के लिए (CERT-In ne kiya routers users ko kiya alert )अलर्ट जारी किया है। सरकारी टीम का कहना है कि डिजिसोल राउटर के फर्मवेयर में कई खामियां देखी गई हैं, जिससे हैकर्स सिस्टम को टारगेट करके संवेदनशील जानकारी हासिल कर सकते हैं CERT-In की तरफ से इसको लेकर एक एडवाइजरी भी जारी की गई है। एडवाइजरी के मुताबिक, CERT-In को Digisol Router में तीन बड़ी खामियां मिली हैं। 


पासवर्ड क्रिएट करके उठा सकते हैं यूजर्स का फायदा 

 

पहली बड़ी खामी पासवर्ड पॉलिसी को लेकर है, जिसको लेकर कहा गया है हैकर फिजिकल एक्सेस से (routers users ka password kr skte hackers change)पासवर्ड क्रिएट करके इसका फायदा उठा सकता है। इससे राउटर के जरिये संभावित खतरे को एक्सेस मिलने की आशंका है। इसके अलावा एडवाइजरी में कहा गया है कि फिजिकल एक्सेस के साथ अटैकर यूएआरटी पिन की पहचान करके और कमजोर सिस्टम पर रूट शेल तक पहुंच कर इसका फायदा उठा सकता है।  जिससे उसे टारगेटिंग सिस्टम पर संवेदनशील जानकारी तक पहुंचने की अनुमति मिल सकती है। 

 

 

रिवर्स इंजीनियर बाइनरी से भी उठा सकते हैं फायदा

 

तीसरी बड़ी खामी पासवर्ड की स्टोरिंग में (Cert-in issues virus alert for wifi routers)एन्क्रिप्शन या हैशिंग की कमी की वजह से है। इसमें हैकर कमजोर सिस्टम पर प्लेनटेक्स्ट पासवर्ड तक पहुंचने के लिए फर्मवेयर और रिवर्स इंजीनियर बाइनरी डेटा से इसका फायदा उठा सकता है। रिपोर्ट के अनुसार, इन खामियों से डिजिसोल राउटर DG-GR1321, हार्डवेयर वर्जन 3।7L, फर्मवेयर वर्जन v3।2।02  प्रभावित हैं। 

 

इन यूजर्स को रहना होगा अधिक सावधान


। राउटर्स के अलावा CERT-In ने एप्पल आईट्यून्स और गूगल क्रोम यूजर्स के लिए(गूगल क्रोम यूजर्स के लिए वायरस अलर्ट जारी किया) भी एक चेतावनी जारी की है। इसकी खामियों को लेकर बताया गया है कि हैकर्स डिवाइस में मैलवेयर की एंट्री के जरिये यूजर्स को निशाना बना सकते हैं। इसके चलते क्रोम डेस्कटॉप यूजर्स और Apple iTunes यूजर्स दोनों को ही सतर्क रहने की जरूरत है। 

 

यूजर्स को चेतावनी से किया अगाह

इस एडवाइडजरी में कहा गया है कि जो लोग विंडोज के लिए 124।0।6367।201/।202 वर्जन का इस्तेमाल कर रहे हैं, उन्हें सतर्क रहने की जरूरत है। साथ ही जो 124।0।6367।201 लिनक्स के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं उन यूजर्स को भी अलर्ट जारी किया गया है।