HBN News Hindi

Coconut Farming : किसानों को मालामाल कर देगी ये खेती, एक बार पेड़ लगाकर सालों-साल कमा सकते हैं मोटा पैसा

Coconut Farming Update: बिहार में अब नारियल की खेती से किसानों की आय बढ़ाने की कोशिश की जा रही है। अब तक आम, लीची, केला, अमरूद, पपीता आदि फसलों पर किसानों को अनुदान दिया जा रहा था। बिहार सरकार ने पहली बार इन फसलों में नारियल को भी शामिल किया है। अब किसान नारियल की खेती (Coconut Cultivation) से अपनी आय बढ़ा सकते हैं। क्या आप जानते हैं कि एक नारियल का पेड़ कितने सालों तक फल देता है? आइए जानते है इस सवाल के जवाब के बारे में डिटेल से।
 | 
Coconut Farming : किसानों को मालामाल  कर देगी ये खेती,  एक बार पेड़ लगाकर सालों-साल कमा सकते हैं मोटा पैसा

HBN News Hindi (ब्यूरो) : अक्सर आपने किसानों द्वारा  केवल आम और अमरूद जैसे फलों की खेती के बारे में ही सुना था क्योंकि उन्हें लगता था कि इस खेती से अच्छी कमाई की (Bihar government subsidy) जा सकती है। लेकिन किसानों को पहले इस बात का अंदाजा नहीं था कि आम और अमरूद के अलावा कई ऐसे बागवानी (Agriculture news) फसलें हैं, जिसकी खेती उन्हें मालामाल कर देगी। उन्हीं में से एक नारियल भी है। आइए जानते हैं प्रतिवर्ष नारियल की खेती से लगभग कितनी इनकम अर्न की जा सकती है।

 

किसानों को एक पौधे पर इतनी मिलती है सब्सिडी


बिहार में नारियल खेती को बढ़ावा देने के लिए सरकार (farmers) अनुदान दे रही है। नारियल पौधा वितरण योजना में किसानों को इकाई लागत 85 रुपये प्रति पौधा पर 75% की सब्सिडी मिलेगी, यानी प्रति पौधे केवल 21.25 रुपये देना होगा।बिहार की कृषि विभाग ने 38 जिले के किसानों के लिए नारियल के पेड़ पर 2024-25 के लिए सब्सिडी (Latest Agriculture News) देने का निर्णय लिया।

 

इतने पौधें मिलेंगे सब्सिडी के रुप में


नारियल विकास बोर्ड किसानों को सहायक निदेशक उद्यान के माध्यम से नारियल के पौधे (Bihar Government Providing Subsidy On Coconut Sapling) उपलब्ध कराएगा। किसानों को न्यूनतम 5 और अधिकतम 712 पौधे प्रति हेक्टेयर 178 पौधों की दर पर सब्सिडी पर मिलेंगे। किसानों को बिहार सरकार की नारियल पौधा वितरण योजना का लाभ लेने के लिए horticulture।bihar।gov।in पर जाना होगा।