HBN News Hindi

Agriculture News : सेब की यह किस्म कर देगी किसानों काे मालामाल, इस तरीके से लें अधिक पैदावार

Harman 99: अक्सर किसानों के लिए एक के बाद एक नई स्कीमें लाई गई है। लेकिन आपको बता दें कि कोई भी स्कीम किसानों को परमानेंट इनकम नहीं दे सकता है। अगर आप भी एक किसान हैं आप इस बात से(Agriculture news update) भलीभांति परिचित होंगे। इसलिए आज हम आपको एक ऐसी ही फसल के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपके इनकम को चार चांद लगा देगी। आइए जानते हैं इस फसल में होने वाली खर्चे और इसे करने के आसान तरीकों के बारे में डिटेल में।

 | 
Agriculture News : सेब की यह किस्म कर देगी किसानों काे मालामाल, इस तरीके से लें अधिक पैदावार

HBN News Hindi (ब्यूरो) : आज के महंगाई के दौर में लोगों का अपना घर चलाना लोगों के लिए मुश्किल होता जा रहा है। अगर आप भी एक किसान हैं और अच्छा पैसा कमाने के बारे में सोच रहे हैं तो आप भी सेब की इस वैरायटी की(Apple farming) फसल कर अच्छा रिटर्न पा सकते हैं। आइए जानते हैं इस सेब के इस वैरायटी के बारे में डिटेल में खबर में।

 

 हरिमन-99 वेरायटी का अनुदान 


साल 2021 के जनवरी-फरवरी महीन (Best variety for apple cultivation)में उद्यान विभाग द्वारा हरिमन-99 वेरायटी का अनुदान पर 100 सेब का पौध अनुदानित दर पर उपलब्ध कराया गया था। पौधा लगाने से पहले 6 फुट के अंतराल पर दो वर्ग फुट डायमीटर में गड्ढा खोदकर उसमें फफूंदनाशी दवा देकर उपचारित किया, ताकि कोई बीमारी न लगे।


कम्पोस्ट और जैविक खाद का यूज

 

पौधा लगाने के बाद सिंचाई करने के (Apple cultivation)लिए ड्रिप एरीगेशन की व्यवस्था की। गर्मी के दिनों में 3 दिन पर और ठंडी में 10-15 दिनों के अंतरात पर सिंचाई करनी पड़ती है। वो सेब के बागान में रासायनिक उर्वरक का इस्तेमाल नहीं करते हैं। सिर्फ फसल लगाने के समय वर्मी कम्पोस्ट और जैविक खाद डाला गया है। सेब और केला के फसल में नीलगाय का आतंक नहीं होता है। 

 


हरिमन-99 कि किस्म 


सेब की हरिमन-99 (Hariman 99) किस्म को हिमाचल के बिलासपुर के एक किसान हरिमन शर्मा ने विकसित किया है। हरिमन ने अपने बागान में इस किस्म को विकसित किया है। इसकी क्वालिटी परखी हुई है। HRMN-99 लो चिलिंग सेब है जो निचले हिमाचल प्रदेश जो कि समुन्द्र तल से मात्र 700 मीटर ऊंचाई व 40 डिग्री से 46 डिग्री में तपती धरती पर भी सफलता पूर्वक आम व अनार के साथ तैयार हो सकता है। 


सेब की खेती का सही समय


नवंबर से फरवरी (Which varieties to choose for apple cultivation)पौधे लगाने का सही समय है। पौधे लगने के दो वर्ष बाद इसमें फूल आते हैं। दिसंबर और जनवरी में फूल लगते हैं और मई व जून में फल तैयार हो जाते हैं। स्वाद के मामले में हरा पीला कलर वाले हरिमन 99 खट्टा मीठा स्वादिष्ट होता है।

 


इतनी हो सकती है आमदनी


 सेब के पौधे से एक वर्ष के अंदर फल निकल गए थे। इसके बाद कृषि विशेषज्ञों व उद्यान विभाग के निर्देश पर फल को पौधा से तोड़कर फेंकना पड़ा था। अभी पौधे के लगाने गए 3 साल से कुछ ज्यादा(seb kee khetee ke lie behatareen kism) दिन हुए हैं। 100 पौधा में से 30 पौधा नष्ट हो गया है। 70 पौधा सुरक्षित है। प्रत्येक पौधे में तकरीबन 12 से 30 सेब लगा है। उनके मुताबिक, 5 कट्ठा जमीन में सेब का बाग तैयार करने में 5,000 रुपये का खर्च आया है। जून-जुलाई में फल पककर तैयार हो जाएगा। बाजार भाव से 5 हजार की लागत से 70 से 75 हजार की आमदनी हो सकती है।